हमारे सहयोगी

  • निमहान्स - (NIMHANS) logo

    संसद मे पारित एक क़ानून के मुताबिक निमहान्स को ‘राष्ट्रीय महत्त्व का संस्थान’ कहा गया है. देश में मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में ये शीर्ष संस्था है. यहां लोगों को सेवाएं तो दी ही जाती हैं इसके अलावा मानसिक स्वास्थ्य और न्यूरो विज्ञान में आला दर्जे के शोध भी किए जाते हैं.

    जब हम व्हाइट स्वान फ़ाउंडेशन का विचार लेकर निमहान्स के निदेशक और कुलपति से मिले, तो वह हमारे साथ भागीदारी के हमारे प्रस्ताव पर सहर्ष तैयार हो गए. ये हमारे लिए बड़े गर्व की बात है कि मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में देश का सबसे प्रतिष्ठित और शीर्ष संस्थान हमारे इस काम में हमारे साथ पार्टनर है. निमहान्स में कार्यरत, मनोविज्ञानियों, मनोचिकित्सकों और अन्य चिकित्सरों और विशेषज्ञों के बिना शर्त सहयोग, अंतहीन उत्साह और भागीदारी की उच्चतम भावना का ही नतीजा है यह पोर्टल.

    निमहान्स के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए कृपया इस लिंक पर जाएं:  http://nimhans.ac.in

  • माहिती इंफ़ोटेक logo

    इंटरनेट पर जब हमें अपने कंटेंट को पेश करने के लिए एक प्लेटफ़ॉर्म के निर्माण में तकनीकी मदद की ज़रूरत थी तो हम पोर्टल निर्माण में विशेषज्ञता रखने वाले कई सेवा प्रदाताओं से मिले. लेकिन हम जिस संगठन के साथ काम करना चाहते थे उसमें एक अतिरिक्त योग्यता की भी तलाश कर रहे थे. जो सामाजिक मुद्दों पर बेहतर नज़रिया रखता हो और जो सामाजिक प्रभाव हम पैदा करना चाहते हैं उसके लिए हमारे साथ थोड़ी दूर तक चले. काम के साथ सरोकार की ये निशानियां हमें माहिती में मिल गईं जिसकी जड़ें डेवलेपमेंट सेक्टर में हैं.

    माहिती इंफ़ोटेक एक आईटी सेवा प्रदाता कंपनी है जो दुनिया भर के संगठनों को ऐंड टू ऐंड टेक्नोलजी सॉल्यूशन मुहैया कराती है.  

    माहिती इंफ़ोटेक के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए कृपया इस लिंक पर क्लिक करें: http://www.mahiti.org

  • टाइमलूप logo

    जैसा कि कहा जाता है, विज़ुअल कंटेंट, लिखित कंटेंट से ज़्यादा शक्तिशाली होता है. मानसिक स्वास्थ्य पर हम जो भी जानकारी या सूचना आपके लिए प्रस्तुत करते हैं उनमें बहुत सारी कहानियां रहती हैं, कभी सीधे तौर पर तो कभी अप्रत्यक्ष रूप से वाक्यों में गहरे धंसी हुई होती हैं. हम इस बारे में इच्छुक थे कि ऐसी कहानियों का एक विज़ुअल संपर्क क़ायम हो सके, इसके लिए हमें ऐसे छायाकारों/फ़ोटोग्राफ़रों की ज़रूरत थी जो विषय की संवेदनशीलता और इन सामग्रियों की में निहित असर छोड़ने की संभावित क्षमता को समझ सकें. टाइपलूप की संस्थापक और युवा छायाकार द्वय, वर्षा और पार्थवी को पाकर हम ख़ुशकिस्मत हैं.

    हम बंगलौर में एक कंपनी चलाते हैं जो अभी नई है. हमारा मानना है, “फोटोग्राफ़ी करो लेकिन सृजनात्मकता के साथ, एक अर्थ और एक उम्मीद के साथ तस्वीर खींचो जो संवाद की, एक हलचल की या फिर एक सामान्य सी मुस्कान की वजह बन जाए.”