शारीरिक परिवर्तन से समझौता

img

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को स्वस्थ रहने और वजन बढ़ाने के लिए दो लोगों का भोजन खाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है. बच्चे के पैदा होके कुछ हफ़्तों या महीनों बाद माँ अपना वजन घटाने और पहले की तरह हो जाने का दबाव महसूस करती है.

यही समय है जब वह अपने आपको बदसूरत और मोटी समझने लगती है. इसके कई कारण हो सकते हैं:

• आप अपने शरीर में आए परिवर्तन से समझौता करने की कोशिश में हैं

• आप अपनी नई जिम्मेदारियों में इतनी डूब जाती हैं कि अपनी सामान्य दिनचर्या और पसंदीदा गतिविधियाँ नहीं कर पाती हैं

• आप के पति काम से बाहर जाते हैं तो आपको ये महसूस होता होगा कि आप घर की चारदीवारी में कैद हैं.

• आपको अपना वजन कम करने के लिए, मित्र या परिवार वाले आलोचना करते होंगे या दबाव ड़ाल रहें होंगे.

• बच्चे को जन्म देकर कुछ ही महीनों में सेलिब्रिटीस का एकदम फ़िट होकर वापस आना.

ये याद रखें कि लगभग सभी माँओं के मन में ये विचार आते हैं लेकिन कुछ महिलाओं में ये विचार अवसाद का कारण बन सकते हैं या अवसाद की वजह से ये विचार आते हैं. कुछ महिलाओं में ये एनोरेक्सिया या बुलीमिया को जन्म देती है जिसमें वे बहुत कम आहार लेती हैं.

यह सामान्य है

आपको मदद लेने की ज़रूरत है

कभी-कभार अपने शारीरिक परिवर्तन यानि मोटापे पर चिढ़ आना / विचार करना

बार-बार अपने शारीरिक परिवर्तन पर विचार करना

अपने शरीर के आकार, सिज़ेरियन निशान को लेकर चिंतित होना

आप हमेशा उदास रहती हैं या लगातार रोती रहती हैं

अपनी सहेलियों या सहयोगियों की फ़िटनेस (पोस्ट बेबी), से अपनी तुलना करना

एक हफ़्ते से अधिक गंभीर परहेज़ / डायटिंग करना

 

 

शारीरिक परिवर्तन के साथ समझौता कैसे करें:

यदि आप इस बारे में चिंतित हैं तो आप अच्छा महसूस करने के लिए निम्नलिखित चीज़ें कर सकती हैं:

• बच्चे के पैदा होने के तुरंत बाद आप अपना वजन कम नहीं कर सकती हैं, पहले की तरह होने में कई महीने लग सकते हैं.

• अन्य महिलाओं के साथ अपनी तुलना न करें, हर एक के शरीर की प्रकृति अलग होती है. ज़रूरी नहीं है कि जो दूसरे व्यक्ति के साथ हुआ हो वही आपके साथ भी हो.

• ज़बर्दस्ती बहुत जल्दी व्यायाम करना न शुरू करें. अपने डॉक्टर से सलाह लें और पार्क में कुछ व्यायाम करें जिनमें थोड़ा झुकना पड़ता हो या पार्क में सैर करें. बच्चे को प्रैम में टहलने के लिए ले जाएँ ताकि आपको भी ताज़ी हवा का लाभ प्राप्त हो.

• अपना वजन कम होने तक आप अपना ख्याल अन्य तरीकों से करें जैसे- बाल बनवायें, पेड़िक्यूर और मैनिक्यूर करवायें, ढ़ीले और आरामदायक कपड़े पहनें जिससे आपको अच्छा महसूस हो और शारीरिक परिवर्तन की चिंता को दूर करें.

• याद रहे कि सेलिब्रिटीस बच्चे होने के तुरंत बाद इतने फ़िट और सुंदर इसलिए होते हैं क्यों कि बच्चे का ख्याल रखने के लिए उनके यहाँ लोग होते हैं और फ़िट होने के लिए वे पेशेवर मदद लेते हैं. उनके साथ अपनी तुलना बिल्कुल न करें.

• अपने लिए थोड़ा समय निकालने की कोशिश करें जैसे- कुछ समय बाहर जाकर आएँ, छोटी सी झपकी लें या दोस्तों के साथ कॉफ़ी पीने जाएँ.

• अपनी आवश्यकताओं को महत्त्व दें; व्यायाम करने के लिए या ब्रेक चाहें तो आप अपने पति या परिवार के सदस्यों से बच्चे की देखभाल करने के लिए पूछ सकती हैं.

पति और परिवार की भूमिका

महिला को उसकी चिंताओं से दूर रखने में उसके पति और परिवार वालों का बड़ा हाथ है क्योंकि अक्सर वे ही उसे उसके वजन व फ़िट न होने पर ताने मारते हैं.

जब वह असुरक्षित महसूस करती है तो अपने पति या परिवार के अन्य सदस्य से पूछती है कि वह कहीं असुंदर तो नहीं लग रही है; उस समय परिवारवाले उसे आश्वासन देकर उसकी चिंता को कम कर सकते हैं बजाय आलोचना करने के. आसपास के लोगों की प्रतिक्रिया से ही नई माँ की चिंता,अपने शरीर को लेकर, बढ़ती है. ये ध्यान में रखें कि उसके वजन को लेकर उसकी आलोचना न करें. बल्कि आप कुछ देर बच्चे की देखभाल करें ताकि माँ खुद के लिए कुछ समय दे सके.

उसे अपनी चिंताओं से बाहर निकलने में मदद लेने के लिए प्रोत्साहित करें.