• होम
  • व्यसन से मुक्ति

व्यसन से मुक्ति

नशा आज भारत में एक बड़ी समस्या बन गया है. इसका असर न सिर्फ़ नशा करने वाले व्यक्ति पर पड़ता है बल्कि उसके परिवार, दोस्त, सहकर्मियों और समुदाय पर भी पड़ता है. नशे का इतना गहरा प्रभाव पड़ता है कि हम सोच भी नहीं सकते. दुर्भाग्य से, जो लोग नशे की समस्या से जूझ रहे हैं उन्हें या तो कमज़ोर मान लिया जाता है या समझा जाता है कि उनमें इच्छाशक्ति का अभाव है. एक प्रचलित मान्यता ये है कि नशे को ना कह देने भर से इस लत से छुटकारा पा जा सकता है. तथ्य ये है कि नशा एक ज़्यादा जटिल समस्या है. ये दिमाग के ढांचे पर असर डालता है और व्यक्ति को मज़बूत फ़ैसले करने और उन पर क़ायम रहने में असक्षम बना देता है.

नशा करने वाला व्यक्ति अपने दोस्तों, परिवार और समुदाय की सहायता से इससे मुक्ति पा सकता है. उसके संघर्षों के बारे में और अधिक जानकर हम उसकी समस्या को समझने में सहायक हो सकते हैं. इस बारे में मदद भी ली जा सकती है.

ये खंड नशे के विभिन्न पहलुओं पर केंद्रित है जिनमें शराब, तंबाकू और ड्रग जैसे नशे शामिल हैं.

और जानकारी

और पढ़ें