परवरिश के अनेक रंग

  • मौल्लिका शर्मा
    मौल्लिका शर्मा

    मौल्लिका शर्मा बंगलौर में कार्यरत एक कौँसेलर यानी परामर्शदाता हैं. मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करने के लिए वो अपना कॉरपोरेट करियर छोड़ कर आई हैं. मौल्लिका बंगलौर के रीच क्लिनिक में अपनी प्रैक्टिस करती हैं. अगर इस कॉलम से संबंधित आपके पास कोई सवाल हैं तो कृपया हमें लिखे इस ईमेल पते परः columns@whiteswanfoundation.org.

बतौर मातापिता क्या आपको याद है कि कभी आपने अच्छाई देखी भी थी?

ज़्यादा समय नहीं हुआ जब मैंने किसी को कहते हुए सुना, “हमेशा अच्छाई को खोजो, बुराई को नहीं.”क्या सीधी सी बात है! लेकिन अमल करने ...और पढ़ें

सफलता और विफलता की आपकी परिभाषा आपके बच्चे पर असर डालती है – क्या आप अपनी परिभाषा जानते हैं?

हर कोई सफलता चाहता है. कोई भी नाकामी नहीं चाहता है. और ये बात समझ में भी आती है. सफलता और विफलता वैसे घटनाओं को ...और पढ़ें

क्या आपके बच्चे की किशोरावस्था आपके लिए चुनौतीपूर्ण बन रही है?

मेरी बेटी 17 साल की है और वो मुझे ये याद दिलाना नहीं भूलती कि छह महीने से भी कम वक़्त में वो 18 की ...और पढ़ें

क्या अपने बच्चे के व्यवहार से आप परेशान हैं?

कई मौकों पर अभिभावक अपने बच्चे की काउंसिलिंग के लिए समय तय कर देते हैं. क्योंकि उनका बच्चा कुछ ज़्यादा ही अटपटा और गलत बरताव ...और पढ़ें

परिपूर्ण या कामचलाऊ? निस्वार्थ या स्वार्थी?

मैं इस बात के प्रति सचेत हूं कि मेरे कुछ कॉलम पढ़ने के बाद आप अभिभावक के रूप में अपनी क्षमता पर संदेह करना ...और पढ़ें

क्या पिटाई आपके बच्चों की मानसिक सेहत पर असर डालती है?

बच्चों को नियमित रूप से पीटा जाता है. घर पर और स्कूल में. आख़िरकार उन्हें अनुशासित रखने का ये सबसे असरदार तरीक़ा जो है, क्यों, ...और पढ़ें

क्या आपकी निराशाएं आपके बच्चे के मानसिक स्वास्थय पर असर डाल रही हैं?

अपने इस शुरुआती लेख में मैंने वादा किया है कि पैरंटिंग यानी परवरिश और मानसिक सेहत के बीच एक संबंध की छानबीन करूंगी. लिहाज़ा ये ...और पढ़ें

परवरिश और मानसिक सेहत एक दूसरे से क्यों जुड़े हैं

मानसिक सेहत से मेरा बावास्ता 1997 में पड़ा था जब मैं मां बनी. मैंने अपने फ़ुलटाइम, कठिन कॉरपोरेट करियर को छोड़ने का फ़ैसला किया- सिर्फ़ ...और पढ़ें

क्या आप अपनी चिंताएं और डर अपने बच्चों तक पहुंचा रहे हैं

दो तरह के डर और चिंताएं होती हैं जिन्हें मैं इस कॉलम में समझाना चाहती हूं. पहले तो वे हैं जिनके साथ हम बड़े होते ...और पढ़ें

विचार धारा