We use cookies to help you find the right information on mental health on our website. If you continue to use this site, you consent to our use of cookies.

क्या आपका कार्यस्थल तनाव का वातावरण बना रहा है?

कार्यस्थल का तनाव क्या है?

किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया जब लोगों से तब मिलती है जब बहुत अधिक काम और दबाव उनपर होता है, और इसके कारण उनकी काम काने की क्षमता को चुनौती मिलती है, तब इस परिस्थिति को कार्यस्थल तनाव कहा जाता है।

कार्य का तनाव, कार्यस्थल के तनाव से कैसे अलग है?

किसी भी कार्यस्थल पर, दबाव एक महत्वपूर्ण तत्व है, यह व्यक्ति को प्रेरित रहने और सतर्क रहने में मदद करता है। बहरहाल, जब दबाव बहुत ज्यादा होता है, तब यह उत्पादकता को कम करता है।

किसी भी कार्यस्थल को तनाव से भरा बनाने के पीछे क्या कारण होते हैं?

तनाव का अनुभव प्रत्येक व्यक्ति अलग प्रकार से करता है। बहरहाल, अधिकांश का यह मानना होता है कि जितनी कम मदद किसी व्यक्ति को काम पर मिलती है, उतना ही ज्यादा तनाव उसे काम पर होता है। यह भी देखा गया है काम करने की स्थिति को जिस प्रकार से बनाया गया है या फिर संस्थान का प्रबन्धन कैसे किया जाता है, इन कारकों द्वारा भी यह तय किया जाता है कि कार्यस्थल कितना जोखिम से भरा हो सकता है। डब्ल्यूएचओ (विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा एक सन्दर्भ दस्तावेज बनाया गया है जिसमें ’तनाव संबंधी जोखिम’ दर्शाए गए हैं और इन्हे नौ श्रेणियों में बांटा गया है। इन स्थितियों का आना, अर्थात खतरे की घन्टी होता है। इनमें शामिल है:

·         संस्थान से मदद नही मिलना (सही स्रोत, सलाह, मदद आदि)

·         संस्थान के ध्येय और कार्यविधि को लेकर स्पष्टता का अभाव

·         प्रबन्धकों की ओर से सही संवाद का अभाव

·         कार्य भूमिका का अस्पष्ट होना

·         बहुत ज्यादा या बहुत कम काम

·         कार्य और आर्थिक स्वरुप में प्रगति न होना

·         असमान/ अपर्याप्त वेतन

·         कार्य संबंधी असुरक्षा

·         बहुत कम या ना के बराबर निर्णय क्षमता देना

·         कौशल का उपयोग नही होना

·         काम के घन्टों में कोई लोचनीयता या तय स्थिति नही होना

·         अपर्याप्त या असहयोगी रवैया

·         कार्य संबंधों का खराब होना

·         शोषण, परेशान करना या हिंसा

कार्यस्थल को स्वस्थ स्थिति में लाने के लिये किसी संस्थान को क्या करना चाहिये?

अनेक संस्थान संबंधी कारकों द्वारा प्रभावित कर कार्यस्थल को बेहतर और तनाव मुक्त बनाया जा सकता है। एक स्थान यह सुनिश्चित करें कि निम्न के द्वारा कार्यस्थल को स्वस्थ बनाया जा सकता है:

·         यह सुनिश्चित किया जाता है कि कर्मचारी ढ़ांचा, कार्य प्रकार और संस्थान के प्रयोजन को लेकर जानकारी रखते हैं

·         यह सुनिश्चित करना कि कार्य की आवश्यकता और कर्मचारी का कौशल मिलान हो रहा है

·         काम संबंधी स्पष्ट तथ्य और अपेक्षाएं

·         संस्थान में स्पष्ट संवाद

·         सही कार्यस्थल वातावरण होने को सुनिश्चित करना

इस सूची को कार्यस्थल और संस्थान संबंधी तनाव से लिया गया है जिसे डब्ल्यूएचओ द्वारा जारी किया गया है।

 



की सिफारिश की