व्यक्तिगत कहानी: मातृत्व ने मेरी दोस्ती को पुनः परिभाषित कर दिया

एक पुरानी दोस्त और मैं फेसबुक पर उन मूर्खतापूर्ण, लत लगाने क्विज को खेल रहे थे- इसका आधार था ' अब से 10 साल बाद आप किस रूप में जाने जाएंगे' । मेरी दोस्त, मुझसे लगभग 5 वर्ष की छोटी और नवविवाहिता, उसने अनायास ही कह दिया, "लेकिन तुम्हें केवल मां के रूप में जाना जाएगा,  नहीं?"

निश्चित रूप से मां, लेकिन किन्हीं कारणों से मैं उस पल में पूरी तरह से समझ नहीं पा रही थी, मेरी दोस्त की ताने से भरी टिप्पणी। मेरे ऊलजलूल दिमाग में मातृत्व दो दृश्यों में पहुंचा; एक था, यह दोस्त और मैं लंदन में एक पार्टी में थी, हमारे जीवन का सुनहरा समय, और दूसरा, मैं गोद में अपने बच्चे का संतुलन करते हुए बाथरूम में पेशाब करने बैठी थी। एक तीसरा, मैं और मेरा बच्चा दोनों बेवजह बिना रुके हंस रहे हैं, अपने ध्यान को धकेलते हुए अंततः जीत मेरे मस्तिष्क की हुई।

लेकिन अफसोस,  इस एक और दोस्त ने भी मुझे इससे एक और कदम पीछे करने को विवश कर दिया।

कोई भी आपको चेतावनी नहीं देता कि जब आप मां बन जाएं तो आपकी सबसे करीबी दोस्ती को कैसे संभालें। और कोई भी आपको नहीं बताता कि मातृत्व की यात्रा वास्तव में कैसी है। जाहिरा तौर पर दुनियाभर की महिलाओं का साझा अनुभव – क्या जीवन को बदलने वाली,  हड्डी-थकाऊ, आत्म पिपासु यह 'चीज' महिलाओं के साथ बेहतर रिश्तेदारी का जरिया नहीं होना चाहिए?  इसके बजाय, मैंने खुद को दोस्तों के समुद्र में अकेला पाया। मुझे स्कूल की मेरी सबसे अच्छी दोस्त के साथ चैट करना याद है, जो पहले से ही दो बच्चों की मां थी,  जो केवल मेरे बच्चे के लिए मेरी चिंताओं के बारे में बात करती रहती थी।(हा! पहले बच्चे का लक्षण, वह ठिठोली करती थी)। मुझे एक दोपहर अपमानित एवं आत्मलीन महसूस करना याद है जब मेरी एक पूर्व सहयोगी दावत के लिए मेरे यहां आई और मेरे बच्चे की डकार और किलकारी की आवाज की ही बात करती रही। यही सब है जो मातृत्व ने मेरे साथ किया: पहले से ही एक अंतर्मुखी, एक माँ होने ने मुझे और भीतर खोल में खींच लिया। - थोड़ा समय जो मुझे मिलता, वह मैं सिर्फ अपने लिए चाहती, बिना किसी मानवीय दखल के, और ज्यादातर अनियमित नींद के लिए।

लेकिन इसने मुझे बहुत अच्छा महसूस नहीं कराया। मेरा सामाजिक कौशल गंभीर रूप से सीमित हो रहा था - मेरी बातचीत एक छोटे से व्यक्ति के साथ बू और मू बोलने ​​तक सीमित थी और बड़े लोगों की मेरी निकटतम मंडली में यह दूध पिलाने, नैप्पी बदलने और  पोट्टी कराने जैसी बातों तक सीमित थी। मुझे गलत ना समझें; मातृत्व पूरी तरह मेरी दिली ख्वाहिश थी, और फिर भी, मैं खुद को अकेला महसूस कर रही थी और 'कुछ और' के लिए तरस रही थी। मेरे पास कुछ और महसूस करने का कोई समय नहीं था;  मेरा मस्तिष्क बच्चे से भरा था। एक सहायक पति और एक प्रेमपूर्ण परिवार के बावजूद मैं महिला दोस्तों के साथ बेहूदा बातों पर मूर्खों की तरह हंसना याद करती थी। मैंने सिंगिंग स्टार के साथ ही यूट्यूब पर भूली-बिसरी धुनों की तलाश की।

इंटरनेट से मुझे कुछ सांत्वना मिली। इसने मुझे बताया कि हर जगह की महिलाएं एक ही नाव में सवार हैं, और अंत में यहां सामुदायिक भावना थी, जिसे मैं तलाश रही थी। इसने मुझे स्पष्ट रूप से यह भी बताया, कि मुझे 'मॉम्मी दोस्तों' की तलाश करनी चाहिए, लेकिन यह जितना आसान लगता है उतना आसान नहीं है। कुछ वेबसाइटों ने मुझे प्री स्कूल जाकर और अपने बच्चे के सहपाठियों के साथ नए दोस्त बनाने की सलाह दी। मैंने कोशिश की। एक बार, बच्चों के प्रीस्कूल गेट पर,  हालांकि, वहां मैंने खुद को कोने में सिमटने की कोशिश करते पाया, जबकि बच्चों की मम्मियां ड्रेसेज और बच्चों के बैगों पर चर्चा के दौरान खिलखिलाती नजर आईं। शर्मीली आत्माओं के लिए यहां जगह नहीं थी।

वास्तविकता यह है कि आप रास्ते में कई दोस्तों को खो देंगे, जैसे मैंने किया और अभी भी हूं;  कुछ दोस्तियां आपके लिए इतनी कमजोर होंगी, जिन्हें ज्यादा लंबा नहीं खींचा जा सकता। यदि आप भाग्यशाली हैं,  कुछ,  बहुत ही कम होंगी, जो मजबूत हो जाएंगी।

एक बार के लिए, इंटरनेट पर सलाहों के ढेर, गंभीरता से विचार करने के लिए महत्वपूर्ण हैं। मुझे एक मॉम्मी दोस्त मिली, हालांकि प्रीस्कूल गेट पर नहीं। मैं भाग्यशाली हूं - एक बहुत ही अच्छी दोस्त, जिसके पास भी लगभग मेरे ही समय के दौरान का बच्चा था और हमारे बीच स्वाभाविक रूप से एक दूसरे के प्रति झुकाव हुआ। मेरी केन्याई मित्र और मुझमें समानता की तुलना में अंतर बहुत ज्यादा है। हमारी संस्कृति,  जाति, धर्म,  रंग, परवरिश – नाम के लिए सिर्फ कुछ। और फिर भी इसमें से कोई भी मायने नहीं रखता। हम एक काल्पनिक बबूल के पेड़ के नीचे 'आभासी' चाय से बंधे थे। बच्चे पर चिल्लाने के बाद कितना दुख होता है;  हमने टोडलरिज्म की मजाकिया कहानियों को साझा किया और हमने चर्चा की, कि पेरेंटिंग का जुआ क्या है। हमने एक-दूसरे को सब कुछ बताना शुरू कर दिया और यह मददगार था। वास्तव में इसने मदद की।

एक मां के रूप में उसकी स्थिति में,  मुझे एक नई पारस्परिकता महसूस हुई और शायद वह भी मुझमें बहुत ही समान महसूस कर रही थी। हमारी बातचीत भयानक रूप से वास्तविक थी (और अभी भी है); उदाहरण के तौर पर, मैं उसे बता सकती हूं कि मेरा बच्चा पृथ्वी पर सबसे निराशाजनक छोटा प्राणी हो सकता है और वह मुझे बता सकती है कि उसे ऐसा लगता है कि वह लंबे, एकान्त अवकाश के लिए भाग जाना चाहती है। हम दोनों एक दूसरे के लिए इसका निर्णय करेंगे। हम नींद के अभाव, फटे हुए निपल्स, रात के पोट्टी के कपड़े,  सुपरमार्केट के गलियारों में झुंझलाहट और पेट गड़बड़ाने के दिन साथ में बिताए हैं। और इन पर बात की है। हंसे और रोये हैं। इन सबने हमारी दोस्ती को लोहे की अंगूठी सी मजबूती और मेरी आत्मा को कुछ सहायता दे दी है।

इस रिश्ते की ईमानदारी मेरे लिए ताज़ा है क्योंकि यह निरंतर है। मेरा मानना ​​है कि यह मुझे एक दयालु, शांत व्यक्ति बनाता है और अंततः मुझे एक बेहतर मित्र होने और पूरी तरह जानने के लिए एक अच्छा व्यक्ति बनाता है

और ओह, अब हम सिंगिंग स्टार्स के बारे में भी चैट करते हैं।