We use cookies to help you find the right information on mental health on our website. If you continue to use this site, you consent to our use of cookies.

आप कैसे जानेंगे कि आप या किसी प्रियजन को मानसिक बीमारी है या नहीं?

विशेषज्ञों का कहना है कि इसके लिए कुछ आम संकेत हैं:

1.दैनिक गतिविधियों,दोस्तों और परिवार से अलग-थलग हो जाते हैं। अपना पूरा समय खुद पर ही बिताना पसंद करते हैं।

2.क्रियाकलापों में अचानक गिरावट, कुछ समय बादअध्ययन या काम करना छोड़ देना। नियमित कार्यों पर ध्यान केंद्रित करने में असमर्थ होते जाना। जिन गतिविधियों का वे पहले आनंद लिया करते थे उनमें रुचि खोना।

3.तर्कहीन मान्यताओं या अजीब सोच पर मजबूत पकड़ (उदाहरण के लिए,किसी ने मेरे सिर में एक चिप लगाया है और अब मैं जो भी सोचता हूं उसे वे सुन सकते हैं)

4.लगातार दुखी रहना,निराशाजनक मनोदशा,या आत्मघाती विचार।

5. बार-बार दर्द उठना और पीड़ा जिनका कोई चिकित्सा आधार नहीं होता है।

6.अचानक,चीजों और स्थानों का तीव्र डर।

7.अत्यधिक चिंता या घबराहट

8.मनःस्थिति में गंभीर बदलाव

9.व्यवहार, जो सामान्य से अलग है

10.नींद,भूख या स्वयं की देखभाल में बहुत ज्यादा परिवर्तन।

11. भावनाओं का कुंठित होना; अनुचित व्यवहार प्रकट करना

तीव्र तनाव के समय हम सभी में इनमें से एक या अधिक व्यवहार प्रदर्शित हो सकते हैं। यदि किसी व्यक्ति में ये व्यवहार लगातार एक महीने या उससे अधिक समय तक दिखाई देते हैं, तो उसे मानसिक बीमारी हो सकती है। सहानुभूति के साथ वार्तालाप करें और उसे अपना सहारा प्रदान करें।

मानसिक और मनोवैज्ञानिक विकार एक विस्तृत श्रेणी में हैं और सभी विकारों के लिए ये सभी लक्षण सच नहीं हो सकते हैं। मानसिक बीमारी का हर व्यक्ति का अनुभव अनूठा होता है और प्रकार, तीव्रता और अवधि में ये लक्षण भिन्न हो सकते हैं।