We use cookies to help you find the right information on mental health on our website. If you continue to use this site, you consent to our use of cookies.

जब आपके किसी करीबी को आत्महत्या का जोखिम हो

किसी करीबी के मन में आत्महत्या का ख्याल आना चिंताजनक हो सकता है, पर आप कुछ ऐसे कदम ले सकतें हैं जिससे उनके इन विचारों को दूर किया जा सकता है।

उस व्यक्ति से अकेले में बात करें और धीरे-धीरे आत्महत्या के विषय को लाएं। आत्महत्या के बारे में बात करके,आप बातचीत के लिए एक खुला मंच तैयार करेंगे।

ऐसी बातें करें जिससे आत्महत्या के बारे में बात करना आसान हो जाये, जैसे कि "मैंने देखा है कि कुछ समय से आप सुस्त दिख रहे हैं। क्या आपको कुछ परेशान कर रहा है?" अगर वह व्यक्ति कुछ ऐसे जवाब दे जैसे "मैं सुस्त महसूस कर रहा हूं," या "मैं अपने परिवार के लिए बोझ हूं," या "मेरा मन करता है कि मैं मर जाऊं," तो इन्हे आत्महत्या के चेतावनी संकेत समझीये।

उनके दुःख को स्वीकार करें। उनकी स्थिति जाने बिना उन्हें आश्वस्त न करें।

ऐसी बातें, "हम सभी के जीवन में समस्याएं हैं," या "यह अपने जीवन को समाप्त करने का कोई कारण नहीं है" व्यक्ति को ज्यादा नुकसान पहुंचा सकती है। इसके बजाय, कहें, "इस तरह की समस्या का सामना करना आपके लिए मुश्किल होता होगा" उनके दर्द को मान्य करने और हमदर्दी दिखाने से उन्हें कुछ कम निराशा महसूस होगी।

बिना किसी शर्त और धारणा बनाए समर्थन दें

व्यक्ति को समय दें ताकि वह सहज महसूस करे और अपनी समस्याओं को खुल कर व्यक्त कर पाए। उन्हें गौर से सुने पर कोई समाधान देने की कोशिश न करें। व्यक्ति पहले से ही कमजोर महसूस कर रहा है इसलिए ऐसी कोई बात न कहें जैसे कि "आपका परिवार आपके बारे में क्या सोचेगा?" उन्हें आश्वस्त करें कि वे अकेले नहीं हैं और आप उनके साथ हैं।

एक समझौता करें जिसमें वे आत्महत्या के विचारों पर आचरण न करने का वादा करें

यदि आप को लगता है कि व्यक्ति आत्महत्या का इरादा रखता है, तो उनके साथ समझौता करें। ऐसे शब्द, "क्या आप मुझसे वादा करेंगे कि जब तक मैं आपके लिए कोई मदद नहीं ढूंढ लेता, आप खुद को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे?" या "क्या ऐसे विचार आते ही आप मुझे तुरंत कॉल करेंगे?" उनकी आत्महत्या की कोशिश को स्थगित करने में मदद करेगा और आपको मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ की तलाश करने के लिए समय देगा।

उन चीजों को सूचीबद्ध करने में उनकी सहायता करें जो उनके जीवन को जीने लायक बनाती है

उन्हें उनके जीवन की सफलताओं और उपलब्धियों के बारे में याद दिलाएं। उनकी ताकतों और उनके जीवन के सकारात्मक कारकों पर ध्यान केंद्रित करें, जिससे व्यक्ति अपने विचारों को आत्महत्या के विषय से हटा पायेगा।

उन्हें एक मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ से मिलने का सुझाव दें

उन्हें मदद मांगने के लिए प्रोत्साहित करें और उनके लिए किसी मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर को खोजें। मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर, जैसे परामर्शदाता, मनोवैज्ञानिक या मनोचिकित्सक, संरचित तरीके से आत्महत्या के विचार वाले व्यक्तियों की सहायता करते हैं। आप यह भी सुझाव दे सकते हैं कि जब भी वे विचार उभरें तो वे आत्महत्या हेल्पलाइन पर कॉल करें।