विकार

व्यसन का प्रभाव

कोई भी लत अपने शिकार के साथ-साथ आसपास के लोगों को भी प्रभावित करती है

वाइट स्वान फ़ाउंडेशन

व्यसनकारी पदार्थ ऐसे रसायन होते हैं, जो शरीर के कामकाज को प्रभावित करते हैं। एक व्यक्ति  जो किसी लत का आदी है, वह केवल इससे मिलने वाले मजे पर ध्यान केंद्रित रखता है। इससे वह अपनी पेशेवर और व्यक्तिगत जिम्मेदारियों से दूर होने लगता है और उसमें परिवार और दोस्तों से जी चुराने की संभावना रहती है क्योंकि वह केवल अपनी लत पर ध्यान लगाए रहना चाहता है। यह लत धीरे-धीरे उसके काम और घनिष्ठ संबंधों को प्रभावित करती है।

मादक पदार्थों के उपयोग और लत के कारण होने वाली अन्य समस्याओं में यह शामिल है:

- मनोवैज्ञानिक विकारों, मानसिक और व्यवहार संबंधी समस्याओं के प्रति संवेदनशीलता

- सामान्य स्वास्थ्य समस्याएं: लिवर खराब होना (शराब का दुरुपयोग), फेफड़ों का कैंसर (तंबाकू का दुरुपयोग), और तंत्रिका तंत्र को क्षति (नशीली दवाओं के दुरुपयोग) जैसी समस्याएं पैदा होना। अल्कोहल और तम्बाकू उपयोगकर्ताओं को कैंसर और अन्य गैर-संक्रमणीय बीमारियां होने का अधिक जोखिम होता है।

- विषाक्तता, जिसका जोखिम तब और बढ़ जाता है जब कोई व्यक्ति शराब और तंबाकू दोनों का आदी हो।

- नशे की वजह से जोखिम लेने का व्यवहार: इसमें हिंसक व्यवहार, लापरवाह ड्राइविंग या यौन व्यवहार शामिल हो सकता है, जो घरेलू हिंसा, दुर्घटनाएं और शारीरिक क्षति का कारण बनती हैं।

- यौन प्रदर्शन (विशेषकर युवा महिलाओं के बीच) और यौन संक्रमित बीमारियों की जकड़ में आने की संभावना।

- इंजेक्शन से नशीली दवाएं लेने के मामले में, घावों में सड़न, संक्रमण और एचआईवी / एड्स जैसी अन्य संक्रमित बीमारियां। बहुत से लोगों का मानना है कि एक ही सुई का बार-बार उपयोग करने से संक्रमण नहीं होता है, क्योंकि यह दूसरों के साथ साझा नहीं की जाती है। हालांकि यह सत्य नहीं है। जीवाणुरहित किए बिना एक ही सुई का बार-बार उपयोग संक्रमण कर सकता है।

- मादक पदार्थ के जुनून के कारण सामाजिक अलगाव या अलग-थलग हो जाना।

- कानूनी समस्याएं: खराब निर्णय और जोखिम लेने वाले व्यवहार के कारण, या अगली खुराक की व्यवस्था के लिए अवैध साधन तलाशने के कारण।

ध्यान रखें कि ये समस्याएं किसी विशेष पदार्थ का उपभोग करने के कारण हो सकती हैं, भले ही कोई व्यक्ति इसका आदी न हो। 

आप कैसे बता सकते हैं कि आपके आस-पास का कोई व्यक्ति मादक पदार्थों के सेवन का आदी है?

शारीरिक संकेतक           

- लाल आंखें

- नींद के पैटर्न में गड़बड़ी

- अचानक वजन घटना या बढ़ना

- शराब या नशीली दवाओं की महक आना

- कंपकंपाना

- समन्वय में कमी, बेढंगी हरकत

- आकस्मिक चोटों में वृद्धि       

व्यवहार संकेतक

- गतिविधियों में कम रुचि लेना

- घर, स्कूल या काम की जिम्मेदारियों की उपेक्षा

- वित्तीय समस्याओं से घिरना

- लड़ना-झगड़ना

- संदिग्ध चीजें करना। किसी को यह नहीं बताना कि वे कहां जा रहे हैं, किसके साथ समय बिता रहे हैं, चोट के मामले में यह नहीं बताना कि उन्हें चोट कैसे लगी

- अपनी निजता पर और जोर देना, अक्सर दरवाजों को बंद कर रखना या यह बताने से इंकार करना कि वे क्या कर रहे हैं। परिवार और दोस्तों के साथ बातचीत करने से परहेज

  • - सामाजिक परिस्थितियों से बचना

मनोवैज्ञानिक संकेतक

           

- व्यक्तित्व में परिवर्तन: चिड़चिड़ाहट, तनावग्रस्त, बेचैन

- मनोदशा का अचानक बदलना

- चिंता

- मानसिक उन्माद

- प्रेरणा की कमी

- एकाग्रता में कमी 

- याददाश्त कम होना, विशेष रूप से उस अवधि में जब वे मादक पदार्थ के प्रभाव में थे

वित्ड्रॉयल सिंप्टम्स (पलटाव के लक्षण)

वित्ड्रॉयल सिंप्टम्स या पलटाव के लक्षण शारीरिक और व्यावहारिक परिवर्तन होते हैं। यह तब प्रकट होते हैं जब मादक पदार्थ का आदी हो चुका कोई व्यक्ति इसका उपयोग बंद कर देता है। पलटाव के लक्षण दो प्रकार के होते हैं: शारीरिक लक्षण और भावनात्मक लक्षण। सामान्य शारीरिक पलटाव लक्षणों में कंपकंपी आना, पसीना, हृदय गति में बदलाव, मतली, पाचन समस्याएं और दौरे (बहुत गंभीर मामलों में) शामिल हैं। भावनात्मक पलटाव के लक्षणों में चिंता, एकाग्रता में कमी, सामाजिक अलगाव , जलन और बेचैनी शामिल है।

पदार्थों के दुरुपयोग या लत के लिए उपचार में आम तौर पर दवा शामिल होती है, जो रोगी को उनके निकासी के लक्षणों का प्रबंधन करने में मदद कर सकती है। यदि आप एक लत से छुटकारा पाने की कोशिश कर रहे हैं और वापसी के लक्षणों को प्रबंधित करने में परेशानी हो रही है, तो डॉक्टर या परामर्शदाता से संपर्क करें।

एक व्यक्ति जो किसी मादक पदार्थ का आदी हो जाता है, वह वापसी के लक्षणों से डरता है और अगली खुराक न मिलने का केवल विचार ही डरावना हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि लत ने उनकी उत्तेजना को भोजन, पेय या नींद से अधिक महत्वपूर्ण कर सर्वोच्च प्राथमिकता में तब्दील कर दिया है। नतीजतन, मादक पदार्थ के बिना रहने का विचार ही अकल्पनीय है, भले ही व्यक्ति  इसे कितना भी छोड़ना चाहे। वे जानते हैं कि उनकी लत शारीरिक और मानसिक रूप से उन्हें कितना नुकसान पहुंचा रही है, लेकिन फिर भी वे इसका उपयोग बंद करने में असमर्थ हैं। मादक पदार्थ का उपयोग किए बिना रहने की संभावना उनमें खौफ भर सकती है। वे लगातार अपनी लालसा, वापसी के लक्षण और मादक पदार्थ के उपयोग की तीव्र इच्छा से लड़ने के बारे में चिंतित रहते हैं। यह उन्हें लत से छुटकारा पाने और इसे कल छोड़ देने का खुद से वादा करने की अपनी योजना को टालने के लिए मजबूर कर देता है। 

व्यसन का निदान

ऐसी कई प्रश्नावली हैं जो किसी व्यक्ति को यह समझने में मदद कर सकती हैं कि वह लत के शिकार हैं या नहीं।

-  CAGE प्रश्नावली, शराब संबंधी समस्याओं के लिए एक स्क्रीनिंग परीक्षण है (जिसका संशोधित संस्करण निकोटीन निर्भरता का आंकलन करने के लिए उपयोग किया जा सकता है)

- शराब उपयोग विकार पहचान टेस्ट (AUDIT) यहां उपलब्ध है- http://whqlibdoc.who.int/hq/2001/WHO_MSD_MSB_01.6a.pdf?ua=1

- ड्रग अबाउट स्क्रीनिंग टेस्ट (DAST)

- निकोटिन निर्भरता के लिए फेजरस्ट्रॉम टेस्ट

- डीएसएम -4 के दिशानिर्देशों के आधार पर 4-सी का मूल्यांकन

इनमें से कुछ परीक्षण स्व-प्रबंधित हो सकते हैं, जबकि कुछ को प्रबंधित करने में मनोचिकित्सक या प्रशिक्षित मानसिक स्वास्थ्य पेशेवरों की आवश्यकता होती है। यदि आप इन परीक्षणों को खुद से प्रबंधित करते हैं और सोचते हैं कि आपको मादक पदार्थ के दुरुपयोग की समस्या हो सकती है, तो याद रखें कि निदान केवल पहला कदम है। समग्र उपचार के लिए किसी मनोचिकित्सक या व्यसन मुक्ति केंद्र से संपर्क करें।

ज्यादातर मामलों में, दोस्त या परिवार का कोई सदस्य होता है जो यह पहचानता है कि उसका प्रियजन किसी लत का शिकार है, और वह उन्हें मदद ढूंढने के लिए प्रोत्साहित करता है। यदि आप किसी प्रियजन के लिए मदद चाहते हैं, तो उसकी स्थिति के मूल्यांकन के लिए मनोचिकित्सक या परामर्शदाता से संपर्क कर सकते हैं, और विशेषज्ञ के पास भेज सकते हैं, तब विशेषज्ञ रोगी और उसके दोस्तों या परिवार के साथ समस्या की गंभीरता को समझने के लिए पूरी तरह से साक्षात्कार आयोजित करता है और फिर उपचार की योजना तैयार करता है।

वाइट स्वान फाउंडेशन
hindi.whiteswanfoundation.org