शिक्षा

पढ़ाई और खेलकूद

वाइट स्वान फ़ाउंडेशन

...जैक को नीरस लड़का बनाता है. यह सदियों पुरानी कहावत है जो हम सबने सुना है, इसमें एक महत्वपूर्ण सबक है - नियमित शारीरिक गतिविधि मानसिक भलाई बढ़ा देता है. परीक्षाएँ नज़दीक हों तो इसका महत्व और बढ़ता है क्योंकि हम सभी शारीरिक गतिविधियों को काटकर अपने आपको किताबों में दफना देते

"जिम मेरे लिए नहीं है"

आमतौर पर हमारे हिसाब से व्यायाम का चित्रण ऐसा है- एक व्यक्ति कठोर शारीरिक गतिविधियाँ करते हुए थक कर पसीने से तरबतर है. कुछ व्यक्ति अपने लिए ऐसी गतिविधियाँ चुनते हैं लेकिन ज़रूरी नहीं कि व्यायाम ऐसे ही करना है. खुद को फ़िट रखने के लिए आप तैराकी कर सकते हैं, साइकिल चला सकते हैं, या नियमित रूप से सैर के लिए जा सकते हैं. अगर आप इन सब व्यायामों से ऊब गए हों तो नई गतिविधियाँ जैसे नृत्य, कोई खेल सीख सकते हैं.

नियमित रूप से अपने आपको सक्रिय रखने के कुछ तरीके हैं-

  • मध्यम दूरी की यात्रा के लिए चल कर या साइकिल चलाकर जाएँ

  • लिफ्ट के बजाय सीढ़ियों का प्रयोग करें

  • अपने वीकेंड़ पर एक आउटडोर गतिविधि के लिए कुछ समय समर्पित करें

"पर मुझे पढ़ना है. मेरे पास समय नहीं है."

परीक्षा के दौरान समय का अपना ही महत्त्व है और ज़ाहिर भी है. फिर भी थोड़ा समय शारीरिक गतिविधि के लिए निकाला जाए तो अपने समय का बेहतर उपयोग करने में मदद मिलेगी. व्यायाम करने से ताज़गी महसूस होती है और ऊर्जा बढ़ती है जो आपके कौशल्य को भी बढ़ाएगी. इससे आपको शांत रहने में और तनाव को संभालने में भी मदद मिलेगी. प्रात: काल व्यायाम करने से आप दिन भर ऊर्जावान महसूस करेंगे.

"मेरे माता पिता चाहते हैं कि मैं घर में बैठकर पढ़ता रहूँ."

माता-पिता बच्चे की परीक्षा के दौरान काफ़ी चिंतित हो सकते हैं. कुछ माता पिता को परीक्षा के दौरान सभी विकर्षणों को सीमित करना चाहते हैं. उन्हें अपने साथ सैर या जॉगिंग पर आने के लिए कहें. इससे उन्हें निश्चित हो जाएगा कि आप समय नष्ट नहीं कर रहे हैं. अपनी माँ से किराने के सामान लाने की सूची लें और बाज़ार तक जॉग करें. इससे उन्हें व्यायाम के लाभों के बारे में जानकारी मिलेगी और ये भी कि आपका फ़ोकस बढ़ाने में मदद मिलेगी. दैनिक योजना बनाइए ताकि शारीरिक गतिविधियों के लिए समय निकाल सकें.  

वाइट स्वान फाउंडेशन
hindi.whiteswanfoundation.org