पॉडकास्ट: यह बहुत लाचार और अक्षम महसूस कराने वाला था

मातृत्व की ज़िम्मेदारियों और दिनचर्या में अचानक बदलाव से मां व्याकुल महसूस कर सकती हैं। इस साक्षात्कार में वेदश्री खंबेटे-शर्मा व्हाइट स्वान फाउंडेशन की आदिबा मुजफ्फर से चर्चा में बताती हैं कि उन्होंने बेबी ब्लूज का सामना करते हुए किस प्रकार अकेलेपन की भावना का अनुभव किया और उस वक्त उन्हें किस कठिन दौर को झेलना पड़ा। यहां तक कि जब एक मां सामान्य और सरल प्रसव से गुजरती है तो भी नवजात शिशु की देखभाल करने का तनाव, प्रसव के बाद की अवधि को चुनौतीपूर्ण बना देता है, जबकि वह खुद भावनात्मक उतार-चढ़ाव के बीच शारीरिक रूप से थकी होती है।

Related Stories

No stories found.
वाइट स्वान फाउंडेशन
hindi.whiteswanfoundation.org