मैं अपने क्लाइंट से कैसे पूछूं कि क्या उसके साथ दुर्व्यवहार हुआ है?
मन की सेहत

मैं अपने क्लाइंट से कैसे पूछूं कि क्या उसके साथ दुर्व्यवहार हुआ है?

यदि कोई क्लाइंट घरेलू हिंसा के अपने अनुभव का खुलासा नहीं करता है तो ऐसी कुछ रणनीतियां हैं जिन्हें अपनाकर कोई भी मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर इसका आकलन कर सकता है।

अंतरंग साथी द्वारा की गई हिंसा या यौन हमले के उत्तरजीवी लोगों के लिए संपर्क का पहला बिंदु हेल्थकेयर प्रदाता होने की संभावना है। महिलाएं भी स्वास्थ्य देखभाल प्रदाताओं के पास पहुंचना ही पसंद करती हैं क्योंकि वे ही ऐसे पेशेवर हैं जो दुर्व्यवहार के खुलासे के लिए सबसे ज्यादा भरोसेमंद हैं। जब वे शारीरिक या मनोवैज्ञानिक आघात के उपचार के लिए स्वास्थ्य सेवाओं का उपयोग करते हैं तो यह सिफारिश की जाती है कि नैदानिक देखभाल में भावनात्मक सहारे और नैदानिक हस्तक्षेप के साथ ही उचित प्रतिक्रियाओं को भी शामिल किया जाए।

विकासशील देशों में सीमित संसाधन और रेफरल प्रक्रियाएं होने के कारण विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) महिलाओं की हिंसा के मामलों में यहां के स्वास्थ्य पेशेवरों द्वारा सार्वत्रिक स्क्रीनिंग की सिफारिश नहीं करता है। हालांकि, डब्ल्यूएचओ स्वास्थ्य देखभाल प्रदाताओं को ऐसी महिलाओं के मामलों को उठाने के लिए प्रोत्साहित करता है जिनमें चोटें या ऐसी स्थितियां पाई जाती हैं, जिनके बारे में संदेह है कि वे हिंसा से संबंधित हो सकती हैं।

कुछ मामलों में, क्लाइंट खुलकर बयां कर सकते हैं और उस हिंसा के बारे में बात करना शुरू कर सकते हैं, जिसका वे सामना कर रहे हैं। यदि कोई क्लाइंट घरेलू हिंसा के बारे में खुलकर नहीं बता पा रही है तो मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर इसके आकलन के लिए रणनीतियों के तहत काम कर सकते हैं।

छुपाने की कोशिश या अस्वीकारोक्ति को पहचानना

घरेलू हिंसा पर सीधे तौर से चर्चा नहीं करना क्लाइंट के लिए आम बात है। अक्सर ऐसा देखा जाता है कि कोई क्लाइंट यह समझ ही नहीं पाता है कि उसके रिश्ते में अपमान किए जाने जैसी कोई चीज है। इसलिए पेशेवरों को क्लाइंट से उनके रोमांटिक या दांपत्य संबंधों के बारे में सवाल पूछना चाहिए, और फिर उन प्रतिक्रियाओं का उपयोग करते हुए आकलन करना चाहिए कि क्लाइंट ऐसे किसी दुर्व्यवहार का सामना कर रहा है या नहीं, जो घरेलू हिंसा की श्रेणी में आता हो।

संभावित शुरुआती प्रश्न ये हो सकते हैं:

- हिंसा के बारे में बातचीत में क्लाइंट को सहज बनाने के लिए गैर-निर्णयात्मक और खुले प्रश्न पूछें, जो उन्हें अपने अनुभव के बारे में बताने में मददगार हो सकते हैं: जैसे “घरेलू हिंसा काफी आम है। हर तीन में से एक महिला अपने जीवन में किसी समय घरेलू हिंसा का सामना करती है। क्या आपके साथी या किसी अन्य व्यक्ति ने आपको किसी भी तरह से भयभीत किया या चोट पहुंचाई है? "

- चूंकि घरेलू हिंसा इतनी आम है, इसलिए क्लाइंट से इस बात को सामान्य तौर पर पूछना अच्छा है, "एक वयस्क के रूप में, क्या आपके साथ किसी ने शारीरिक, भावनात्मक, यौन या आर्थिक रूप से किसी तरह का दुर्व्यवहार किया हैं?"

- क्या घर में ऐसी कोई बात होती है जिससे आप दुखी हो जाते हैं?

- जब घर में वाद-विवाद की स्थिति बनती है तब क्या होता है?

शारीरिक या यौन शोषण के संकेतों को तलाशें

यदि क्लाइंट के शरीर पर चोट, मोच या इस तरह के निशान नजर आ रहे हैं जो शारीरिक दुर्व्यवहार का संकेत दे सकते हैं तो यह महत्वपूर्ण है कि पेशेवर उससे पूछें कि यह चोट कैसे लगी? खासकर अगर पहले से ही आपको संदेह है कि उसके साथ दुर्व्यवहार हो रहा है।

दुर्व्यवहार का महत्वपूर्ण संकेत क्लाइंट की चोटों से संबंधित सवालों के जवाब में पाया जा सकता है - यदि क्लाइंट उस बारे में बताने में संकोच कर रहा है, गोलमोल जवाब देता है या ऐसा स्पष्टीकरण देता है जो असंभव या अवास्तविक लगता है, तो यह लगभग तय है कि घरेलू हिंसा का मामला है। यह प्रतिक्रिया खतरे की घंटी होना चाहिए, जिसे सभी पेशेवरों को पहचानना होगा।

ऐसे कुछ सवाल जो आप पूछ सकते हैं:

- मैंने आपके शरीर पर कई चोटें / घाव / कटने/ जले के निशान देखे हैं? तुम्हें किसने चोट पहुंचाई? क्या हुआ था?

- कई लोग हैं, जिन्हें मैंने इस प्रकार के घावों और चोटों के साथ देखा है, वे सभी घरेलू हिंसा का शिकार हैं। क्या आपको घर पर कोई चोट पहुँचा रहा है?

- आपने बताया कि आपका साथी ड्रग्स / शराब का सेवन करता है। जब वह शराब या ड्रग्स के नशे में रहता है तो किस तरह की हरकत करता है? क्या वे उस दौरान कभी आपके साथ गाली-गलौज या मारपीट करता है?

- क्या आप इस बात को लेकर चिंतित हैं कि आपके परिवार में कोई व्यक्ति आपको या आपके बच्चों को गंभीर रूप से घायल कर सकता है या हत्या कर सकता है?

- क्या कभी किसी ने आपके साथ इस तरह की यौन क्रियाएं की हैं, जिन्हें आप नहीं करना चाहती हैं?

- क्या आपके साथी ने सुरक्षित यौन संबंध बनाने या जन्म नियंत्रण के उपाय अपनाने से इनकार कर दिया है?

भावनात्मक या वित्तीय दुर्व्यव्हार के संकेतों को समझना

घरेलू दुर्व्यवहार, चाहे शारीरिक हो या मनोवैज्ञानिक, ये दोनों ही किसी व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य पर प्रतिप्रभाव डालते हैं। इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि परामर्शदाता इस बात का ध्यान रखें कि किसी मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को लेकर आया क्लाइंट, वास्तव में, अपमानजनक रिश्ते से पीड़ित हो सकता है और यह कि रिश्ता उनकी मौजूदा समस्याओं में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है, भले ही वे खुद स्पष्ट रूप से ऐसा न कह रहे हों।

यदि क्लाइंट आपके सवालों का जवाब देने में हिचकिचाता है, तो आप उससे यह कह सकते हैं- “मैं आपसे यह सब इसलिए पूछ रहा हूं क्योंकि मैं आपकी सुरक्षा के लिए चिंतित हूं, और यह पता लगाना चाहता हूं कि क्या आपको किसी तरह की जानकारी या सहारे की आवश्यकता है? आप निश्चिंत रहिए, आप जो कुछ भी मुझे बताएंगे उस बारे में मैं आपके परिवार या साथी को कुछ भी नहीं बताऊंगा।”

भावनात्मक या वित्तीय दुर्व्यवहार के संकेतों समझने के लिए पूछे जा सकने वाले प्रश्नों के कुछ उदाहरण:

- क्या आप अपने साथी या परिवार के अन्य सदस्यों के गुस्से से चिंतित रहते हैं?

- हम सभी घर पर लड़ते हैं। क्या होता है जब आप और आपका साथी किसी बात पर असहमत होते हैं या आपस में लड़ते हैं?

- क्या कभी किसी ने आपको घर से बाहर निकलने से या दोस्तों से मिलने जाने, नौकरी पाने या अपनी पढ़ाई जारी रखने से रोका है?

- क्या किसी ने आपसे ईर्ष्या करते हुए कि आप कहाँ जाती हैं, किससे मिलती हैं, इस पर नज़र रखने की कोशिश की है?

- क्या आपने कभी अपने साथी, या परिवार के अन्य सदस्यों के साथ रहते हुए भी अपनी सुरक्षा को लेकर आशंका जाहिर की है?

- क्या कोई आपको चिढ़ाता है, आपको कसम दिलाता है या आपको धमकाता है?

- क्या आप कभी भी ऐसे रिश्ते में रहे हैं, जिसमें आपको लगा हो कि आपके साथ काफी बुरा बर्ताव किया गया? और यह किस तरह से किया गया था?

- क्या आपकी वित्तीय स्थिति को अन्य कोई नियंत्रित करता है या आपको सीमित भत्ता देता है?

- आप यदि किसी से असहमत हैं तो क्या वह आपको रुपये-पैसों से लाचार कर देने की धमकी देता है?

- क्या आपके पैसों को कोई बिना आपकी जानकारी के खर्च करता है?

यदि क्लाइंट आपके सवालों के जवाब देना मुनासिब नहीं समझता या इस बात से भी इनकार कर देता है कि उसके साथ किसी तरह का दुर्व्यवहार हुआ है, तो उनकी पसंद का सम्मान करें, लेकिन किसी भी चिन्ह या गैर-मौखिक संकेतों पर ध्यान दें जो संकटकाल स्थिति और भय के संकेत देते हैं।

घरेलू हिंसा एवं दुर्व्यव्हार के आकलन के लिए कुछ सामान्य टूल्स उपयोग में लिए जाते हैं, जिनमें कंपोजिट एब्यूज स्केल, कॉन्फ्लिक्ट टैक्टिक्स स्केल, इंडियन फैमिली वायलेंस एंड कंट्रोल स्केल (आईएफवीसीएस), अब्यूज असेसमेंट स्क्रीन और इंडेक्स ऑफ स्पाउज़ एब्यूज जैसे टूल्स शामिल हैं।

हालांकि, उनकी उपयोगिता चिकित्सकीय व्यवस्था की तुलना में अनुसंधान में अधिक है, जहां इतिहास-जानने और साक्षात्कारों के जरिए अक्सर पर्याप्त जानकारी मिल जाती है। इनमें आईएफवीसीएस एक 63-आइटम स्केल है, जिसे विशेष रूप से भारतीय आबादी के लिए विकसित और मान्य किया गया है, और इसमें चार उप-समूह शामिल हैं: नियंत्रण, मनोवैज्ञानिक हिंसा, शारीरिक हिंसा, और यौन हिंसा।

हिंसा संबंधी आघात को थेरेपी में संभालना शक्ति के साथ संयुक्त तौर पर व्हाइट स्वान फाउंडेशन की एक सिरीज है। यह सिरीज मानसिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों के लिए एक गाइड है जो थेरेपी के माध्यम से हिंसा के उत्तरजीवी पीड़िताओं की मदद के लिए है।

यह श्रृंखला उत्तरजीवी महिलाओं के संदर्भ में है, हालांकि, हम स्वीकार करते हैं कि उत्तरजीवी लोग किसी भी पहचान के हो सकते हैं। "महिलाओं" शब्द का उपयोग उन कानूनों को दर्शाने के लिए किया गया है जो महिलाओं के खिलाफ घरेलू हिंसा पर बने हुए हैं और अन्य दिशानिर्देश जो महिलाओं को ध्यान में रखते हुए तैयार किए गए हैं।

पूरी श्रृंखला देखने के लिए यहां क्लिक करें

पत्रकार और प्रशिक्षण से सामाजिक कार्यकर्ता एवं शक्ति की सलाहकार भूमिका साहनी और निम्हान्स के मनोचिकित्सा विभाग की रेजिडेंट डॉक्टर डॉ. पारूल माथुर द्वारा संकलित।

वाइट स्वान फाउंडेशन
hindi.whiteswanfoundation.org