स्कित्ज़ोफ्रेनिया के इलाज में आर्ट थेरेपी की भूमिका

कला चिकित्सा क्या है?

आर्ट थेरेपी में एक चिकित्सक के मार्गदर्शन में किसी कला को अभिव्यक्ति  के माध्यम के रूप में उपयोग करना शामिल है। मानसिक बीमारी वाले व्यक्ति  शब्दों का उपयोग किए बिना पेंट, मिट्टी या अलग-अलग तरह की कला का उपयोग करके, अपने आंतरिक विचार व्यक्त  कर सकते हैं। मनोरोगियों की सहायता के लिए कला चिकित्सा में आमतौर पर वैकल्पिक चिकित्सा के अन्य रूप जैसे संगीत, नृत्य और संचार का मिश्रण होता है। कला चिकित्सा का लक्ष्य चित्रकारी सिखाना या कलात्मक कौशल विकसित करना नहीं है, बल्कि आपकी भावनाएं एवं उमंग को बेहतर ढंग से समझना और आपके विचारों को आवाज देना है।

नोट: हालांकि कला चिकित्सा में संगीत, नृत्य, नाटक इत्यादि जैसे कई अन्य रूप शामिल हो सकते हैं, लेकिन यह लेख केवल विजुअल आर्ट माध्यम के बारे में है।

स्कित्ज़ोफ्रेनिया के लिए आर्ट थेरेपी

स्कित्ज़ोफ्रेनिया वाले व्यक्तियों में कई ऐसे लक्षण होते हैं जैसे कि मतिभ्रम और विकृत या काल्पनिक अनुभूतियां, जिन्हें अक्सर उनके दोस्तों या परिवार द्वारा नहीं समझा जाता है। ऐसे मामलों में, कला चिकित्सा उनकी मदद करती है:

ए) उनकी भावनाओं और उमंगों को समझती है, और शब्दों का उपयोग किए बिना उन्हें व्यक्त  करती है। इससे व्यक्ति  के परिवार और दोस्तों को उसे बेहतर तरीके से समझने में मदद मिलती है।

बी) दवाओं के साइड इफेक्ट्स से मुकाबला करती है : स्कित्ज़ोफ्रेनिया पीड़ित व्यक्ति यों को इलाज के लिए दी जा रही दवाओं के साइड इफेक्ट्स जैसे- उनींदापन और आलस्य दूर करने में आर्ट थेरेपी मदद करती है, क्योंकि ड्राइंग या कोलाज बनाने जैसी गतिविधियां उनके दिमाग को काम के जरिए सक्रिय रखने में मदद करती है।

स्कित्ज़ोफ्रेनिया और द्विध्रुवीय विकार वाले व्यक्तियों के लिए रिचमंड फैलोशिप सोसाइटी, बैंगलोर के तहत काम कर रही संस्था आशा, अ हाफवे होम के एक पुनर्वास पेशेवर का कहना है कि- "स्कित्ज़ोफ्रेनिया वाले व्यक्तियों के लिए, कला चिकित्सा उन्हें रचनात्मक अभिव्यक्ति  के लिए एक मंच प्रदान करने के साथ ही उन्हें परेशान करने वाले विचारों या आवाजें सुनाई देना जैसे विभिन्ना लक्षणों से दूर करने का एक स्वस्थ रूप है। एक से दो घंटे की थेरेपी का सत्र व्यक्ति  को सौंपी गई गतिविधि पर ध्यान केंद्रित करने में सहायक होता है, उन्हें अपने आप से बात करने से रोकता है और उनके दिमाग में सुनाई देने वाली आवाजों को अनदेखा करने में मदद करता है। 

एक आर्ट थेरेपी सत्र में क्या शामिल है?

विजुअल आर्ट थेरेपी सत्र में चिकित्सक के साथ या तो समूहों में या एक-एक कर पारस्परिक बातचीत हो सकती है। सामूहिक सत्र न केवल व्यक्ति  को समझने में और खुद को व्यक्त करने में मदद करते हैं बल्कि उन्हें सामाजिक कौशल सीखने में भी मददगार होते हैं। प्रतिभागी एक-दूसरे के साथ ठीक तरह से बातचीत करना सीखते हैं, फिर से सामान्य चर्चा करना सीखते हैं, सामूहिक गतिशीलता को समझते हैं और एक-दूसरे के साथ काम करना सीखते हैं, जिससे उनकी समूह-निर्माण क्षमताओं में वृद्धि होती है।

पुनर्वास पेशेवर बताते हैं कि "जब हम उन्हें सत्र के लिए टीमों में विभाजित करते हैं, तो हम उनमें प्रतिस्पर्धा का भाव भी पेश करते हैं। हम उन्हें एक गतिविधि देते हैं और प्रत्येक व्यक्ति  को दूसरों से प्रतिस्पर्धा करने के लिए कहा जाता है। जब स्वस्थ प्रतिस्पर्धा शुरू की जाती है, तो कार्य को अच्छी तरह से करने के लिए बहुत प्रोत्साहित किया जाता है, जिस कारण उन्हें अपने आत्म-सम्मान और सामाजिक टीम बनाने में मदद मिलती है"।

व्यक्तिगत आर्ट थेरेपी सत्र में चिकित्सक और बीमार व्यक्ति  शामिल होता है। सबसे पहले, व्यक्ति  को अभिव्यक्ति  के अपने दृश्य माध्यम, जैसे कि रंग कला या मिट्टी कला चुनने की आजादी दी जाती है, और इसे तैयार करने के लिए सामग्री प्रदान की जाती है। यहां इसका लक्ष्य एक अच्छी कला के प्रदर्शन के बजाय चिकित्सक और व्यक्ति  के बीच मानसिक स्वास्थ्य की स्थिति के बारे में चर्चा के लिए हौसला बढ़ाना है। इससे चिकित्सक को उस व्यक्ति  के बारे में बेहतर समझने में मदद मिलती है। तब व्यक्ति  कलाकृति बनाता है, जिसके बाद चिकित्सक और व्यक्ति  चर्चा करते हैं और इस कलाकृति के माध्यम से चिकित्सकीय सहायता पर विचार किया जाता है। 

स्कित्ज़ोफ्रेनिया जैसी गंभीर मानसिक बीमारियों वाले व्यक्तियों के लिए, कलाकृति बनाना कुछ ऐसा हो सकता है जो वे साझा करना और व्यक्त  करना चाहते हैं या वे कुछ ऐसा वर्णन करना चाहते हैं - किसी घटना या अनुभव को जो इससे पहले वे किसी से साझा करने में सहज नहीं थे।

चिकित्सा के पूरक रूप में कला

स्कित्ज़ोफ्रेनिया एक पुरानी, गंभीर मानसिक बीमारी है जो दिन-प्रतिदिन के कार्य को प्रभावित करती है। आर्ट थेरेपी नकारात्मक लक्षणों जैसे प्रेरणा की कमी, समाज से दूरी, बातचीत में गड़बड़ी और चुप रहने की कमी पर ध्यान देने में उपयोगी है। यह एक पूरक थेरेपी हो सकती है, जो दवा के साथ-साथ व्यक्ति  के इलाज में मदद करेगी और उन्हें बीमारी से मुकाबला करना सिखाएगी। आर्ट थेरेपी, विशेष रूप से मनोरोगी और उसकी देखभाल करने वालों के लिए अपने क्रोध, निराशा और भावनात्मक उथल-पुथल को स्वस्थ तरीके से दूर करने में सहायक हो सकती है, और कलंक मुक्त  वातावरण तैयार करती है।

आर्ट थेरेपी की तलाश कहां करें?

कला चिकित्सा सत्र आमतौर पर अस्पतालों और सामुदायिक पुनर्वास केंद्रों में आयोजित किए जाते हैं। कोई भी व्यक्ति अपने मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर से संपर्क कर सकता है, जो उन्हें एक प्रमाणित कला चिकित्सक के पास भेज सकता है। यदि आपके आसपास के किसी पुनर्वास केंद्र में आर्ट थेरेपी दी जाती है तो इस बारे में पता लगाकर आप उनसे संपर्क कर सकते हैं।  

Related Stories

No stories found.