कार्यक्षेत्र

अपने मूल्यांकन संवाद के बारे में चिंतित हैं? अब आप इसके लिए तैयारी कर सकते हैं

वाइट स्वान फ़ाउंडेशन

अप्रैजल सीजन यानि मूल्यांकन सत्र, हम में से कई लोगों में चिंता ला सकता है - पिछले वर्ष में हमारे काम के प्रदर्शन के लिए हमारा मूल्यांकन कैसा किया जाएगा, और अपने कार्य प्रदर्शन को लेकर बातचीत और पैसों में अच्छी बढ़ोत्तरी के बारे में चिंता। अगर अर्थव्यवस्था खराब हालत में है, तो नौकरी की सुरक्षा के बारे में भी डर हो सकता है। क्या ये चिंताएं सामान्य हैं? आप इनके लिए बेहतर रूप से कैसे तैयार हो सकते हैं?

इस तनाव को प्रबंधित करने के तरीके के बारे में श्रीनिंजिता जेउरकर ने कार्यस्थल विकल्पों पर वैश्विक नैदानिक प्रबंधक मौलिका शर्मा से बात की और अधिक आत्मविश्वास के साथ मूल्यांकन बातचीत की।

मूल्यांकन अवधि के दौरान चिंता या तनाव महसूस करना सामान्य है? इन चिंताओं का संबंध किस से हो सकता है?

एक मूल्यांकन अवधि को पिछले वर्ष के आकलन के रूप में इतना नहीं देखा जाता है,  जितना भविष्य को लेकर की जाने वाली भविष्यवाणियों के रूप में। आत्म-संदेह के कारण,  हम खुद ही भविष्यवाणी करने लगते हैं कि हमारा भविष्य अब गर्त में जाने लगेगा। हम आकलन प्रक्रिया को हमारे भविष्य के बाहरी मूल्यांकन के रूप में देखते हैं, जबकि यह वास्तव में हमारे पिछले प्रदर्शन का बाहरी मूल्यांकन है। और क्योंकि हम अपने दिमाग में दुर्भाग्य की भविष्यवाणी करते हैं, हम मानने लगते हैं कि बाहरी दुनिया भी हमारे लिए विनाश की भविष्यवाणी कर रही है। आखिरकार, हमारा पर्यावरण आम तौर पर हमें वही लौटकर दिखाता है जो हम स्वयं मान रहे होते हैं। हम अपने मूल्यांकन के परिणाम को हमारे लायक होने की अनुमति भी देते हैं। हम मानते हैं कि हम उसी लायक हैं जितना हमारे बारे में मूल्यांकन किया गया है।

सच्चाई यह है कि मूल्यांकन के परिणाम केवल आंशिक रूप से ही हमारी काबिलियत दर्शाते हैं। वे अन्य चीजों के साथ हमारे प्रबंधक, उनकी योग्यता, संगठन की राजनीति, संगठनात्मक लक्ष्यों, प्रतिस्पर्धा और बाजारी ताकतों से प्रभावित होते हैं। वे हमारी काबिलियत के पूर्ण और निर्विवाद मानक नहीं हैं।

हमें खुद से यह पूछना आवश्यक है:

  • हम भविष्यवक्ता नहीं हैं और इसलिए भविष्यवाणी नहीं कर सकते कि हमारा भविष्य क्या होगा। हम अपने विनाश की भविष्यवाणी ही क्यों चुनते हैं?
  • हम क्यों मानते हैं कि यदि सिर्फ एक मूल्यांकन चक्र अच्छी तरह से नहीं चलता है, तो यह हमारे पूरे भविष्य को तय करने वाली भविष्यवाणी है, और यह एक ऐसी विफलता है जो हमारी तरफ से बदली नहीं जा सकती है, जिसे हम पुनः प्राप्त करने में सक्षम नहीं होंगे?
  • हम अपने मूल्यांकन को हमारी पूरी काबिलियत के बेंचमार्क के रूप में क्यों देखते हैं?

हमें अपने प्रबंधक या पर्यवेक्षक के साथ हमारे प्रदर्शन के बारे में बातचीत करने को लेकर भी चिंता हो सकती है। इसे कैसे प्रबंधित किया जा सकता है?

सबसे पहले,  दूर की सोच रखो। यह मूल्यांकन जीवनभर में आने वाले ऐसे 30 मूल्यांकनों में से सिर्फ एक है। केवल यह एक आपके जीवन को परिभाषित नहीं करेगा। याद रखें, जीवन को 100 मीटर की दौड़ (जीतने के उद्देश्य से) के रूप में देखने के बजाय एक मैराथन (इसे सफलतापूर्वक पूरा करने के उद्देश्य से) के रूप में माना जाना चाहिए।

दूसरा, अपनी ताकतों को याद करें। उनमें से कुछ के बारे में सोचें और देखें कि उन्होंने आपको कहां से कहां पहुंचाने में मदद की है, और भविष्य में आप कहां रहना चाहते हैं,  इससे वे आपकी सहायता कैसे करेंगी।

और तीसरा, खुद से सवाल पूछें - सबसे बुरा क्या हो सकता है? और यदि आप ईमानदारी से इसका उत्तर देते हैं, तो आपको पता चलेगा कि यहां तक ​​कि यदि सबसे बुरी बात सच भी होती है तो भी आप अपनी मानसिकता के आधार पर जीवित रह सकते हैं और आगे बढ़ सकते हैं।

कम से कम चिंता हो, इसके लिए कोई भी अपने मूल्यांकन के लिए कैसे तैयार हो सकता है?

• जो कुछ आपने हासिल किया है और जो आपने हासिल नहीं किया है उसके यथार्थवादी भंडार को लेकर समय से पहले तैयार रहें। कुछ लक्ष्यों को प्राप्त करने में अपनी सफलता के कारणों और कुछ अन्य जिन्हें प्राप्त करने में आप विफल रहे, उनके बारे में जागरूक रहें।

• उन चुनौतियों को समझें जिनका आप सामना करते हैं और भविष्य में आप जिनका सामना करेंगे, ताकि आप उन पर चर्चा कर सकें।

• आने वाले समय के लिए अपने लक्ष्यों के बारे में सोचें

• बातचीत के दौरान नियंत्रण में रहें और वार्तालाप में निष्क्रिय और अनुयायी होने की बजाय बातचीत को सक्रिय रूप से आगे बढ़ाएं।

• अपने आप में और अपने मूल्यों पर विश्वास करें। अपनी ताकत और अपनी कमजोरियों को जानें।

यदि आवश्यक हो, तो उन सभी विषयों के बारे में सोचें, जिनके बारे में आप बैठक के दौरान चर्चा करना चाहते हैं, और इन सब को छोटे से कागज पर लिख लें, ताकि आप जो भी कहने और पूछने की आवश्यकता हो, उन्हें ना भूलें।

मूल्यांकन को लेकर होने वाली चिंता के लिए मदद लेने का सही समय क्या है?

आप किसी भी समय मदद के लिए पहुंच सकते हैं, भले ही यह आपके दिमाग को साफ़ करने के लिए हो। लेकिन यदि आप चिंतित महसूस कर रहे हैं,  नींद लेने में असमर्थ हैं, आपके पेट में डूबने वाली भावना है, तनाव के शारीरिक लक्षण हैं, या आप ध्यान केंद्रित करने में सक्षम नहीं हैं – तो निश्चित सहायता लेने पहुंचें। यह कमजोरी का संकेत नहीं है। इसके विपरीत, मदद मांगने के लिए साहस की आवश्यकता होती है और यह तो किसी व्यक्ति की सीमाओं की बड़ी ताकत और समझ का संकेत है।

वाइट स्वान फाउंडेशन
hindi.whiteswanfoundation.org